36.8 C
New Delhi
May 26, 2024
प्रयागराज

इफको संस्था ने गरीबों में वितरित किये 500 कंबल

- इफको के प्रबंध निदेशक यूएस अवस्थी के निर्देश पर चल रहा कंबल वितरण अभियान
- गरीबों की सहायता करना इफको का पुराना इतिहास- जितेंद्र तिवारी
- नर सेवा ही नारायण सेवा- डीके श्रीवास्तव
इफको संस्था

प्रयागराज: इफको संस्था द्वारा आज गरीबों और असहायों के बीच नैनी तथा संगम में कुल 500 कंबल का वितरण किया। इफको संस्था दिल्ली से ई-बाजार के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डीके श्रीवास्तव तथा इफको अधिकारी संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतेंद्र तिवारी के नेतृत्व में सबसे पहले आधारशिला वृद्ध आश्रम में लगभग 100 महिलाओं को कंबल बांटा गया।

इफको संस्था ने गरीबों में बांटे 500 कंबल

श्री तिवारी ने इस मौके पर कहा कि गरीबों और असहायों की सेवा करना ईश्वर की सेवा करना है और सबसे बड़ा धर्म मानव सेवा दरिद्र नारायण सेवा ही होती है।

इफको संस्था ने गरीबों में बांटे 500 कंबल

प्रबंध निदेशक डॉक्टर यूएस अवस्थी के निर्देश पर इफको का विपणन विभाग तथा प्लांट की हर इकाइयों द्वारा गरीबों और असहायों को ग्रामीण व नगर के इलाके में कंबल वितरण का कार्यक्रम लगभग महीने भर से चल रहा है।

इफको ने गरीबों में बांटे 500 कंबल
Also Read: दांतों का पीलापन दूर करने के कुछ घरेलू उपाय

इसी क्रम में टीकरमाफी के संत हर चैतन्य ब्रह्मचारी के माघ मेला आश्रम में लगभग 100 सन्यासियों और गरीब तथा असहाय के बीच कंबल वितरण किया गया जिसमें इफको संस्था अधिकारी संघ के फूलपुर इकाई के अध्यक्ष संजय मिश्रा महामंत्री स्वयं प्रकाश कर्मचारी संघ के अध्यक्ष रामसूरत पटेल तथा महामंत्री विनय यादव भी शामिल हुए।

इसी तरह नृसिंह मानव कल्याण समिति तथा बेदांग संस्थान में भी सैकड़ों गरीबों और सन्यासियो को कंबल वितरण किया गया। कंबल वितरण कार्यक्रम की व्यवस्था विपणन के ई बाजार के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डीके श्रीवास्तव प्रयागराज के फील्ड ऑफिसर विवेक दीक्षित तथा हरीश चंद्र श्रीवास्तव की देखरेख में किया गया।

Related posts

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने प्रयाग में धूमधाम से मनाया स्थापना दिवस

Buland Dustak

IIIT Allahabad में नई शिक्षा नीति लागू: प्रो. नागभूषण

Buland Dustak

इफको कंपनी को विश्व की 300 सहकारी समितियों में मिला पहला स्थान

Buland Dustak

बटाईदारों को मिलेगा मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना कल्याण योजना का लाभ

Buland Dustak

Khusro Bagh के ऐतिहासिक दरवाजों को चाट रहा दीमक

Buland Dustak

इफको के दो अधिकारियों ने अपनी जान दे कर, फूलपुर को किया सुरक्षित

Buland Dustak