20.1 C
New Delhi
March 5, 2024
बिजनेस

कोरोना ने गिराया धनतेरस ने संभाला, कारोबार में आई तेजी

- सर्राफा, बर्तन, इलेक्ट्रानिक्स, मोबाइल, कपड़ा व वाहन शोरूम में दिखी भीड़
- आनलाइन खरीदारी से दुकानदारों पर पड़ा असर, ग्राहकों ने लुभावने आफरों का उठाया फायदा

मीरजापुर: धनतेरस ने मंगलवार को बाजार को नई ऊंचाई पर पहुंचा दिया। सोना, चांदी से लेकर बर्तन, ऑटो मोबाइल, कपड़े, फर्नीचर सहित अन्य दुकानों पर खूब भीड़ रही। लोग शुभ मुहूर्त में पसंद की वस्तुएं खरीदकर घर ले गए। अच्छे व्यवसाय की आस में बाजार सुबह से सज-संवरकर तैयार हो गया।

लक्ष्मी भी मानो कृपा बरसाने के लिए बेताब नजर आई। आभूषण, बर्तन और आटोमोबाइल के बाजार में जबरदस्त भीड़ दिखी। इलेक्ट्रानिक आइटम, कपड़े, फर्नीचर व अन्य सामग्री की खरीदी ने इसे और ऊंचाई पर पहुंचा दिया।

धनतेरस

लोगों में सोने-चांदी व बर्तनों के बढ़े भाव का असर कहीं भी नजर नहीं आया। दोपहर में मुख्य बाजार में पैर रखने की जगह नहीं थी। खरीदारी का सिलसिला रात तक चला। धनतेरस पर कंपनियों द्वारा दिए गए लुभावने आफरों का फायदा भी ग्राहकों ने उठाया। आनलाइन शापिंग भी खूब हुई।

धनतेरस के दिन दिन भर चला खरीददारी का सिलसिला

धानी, ईख, झाड़ू के साथ बिके बताशे: लक्ष्मी पूजन के लिए धानी, ईख, झाड़ू व बताशों की जमकर खरीदारी हुई। त्योहार के चलते इन वस्तुओं के दाम सामान्य दिनों के मुकाबले 5 से 10 प्रतिशत अधिक रहे। इसके बावजूद खरीदारी पर कोई असर देखने को नहीं मिला।

सबसे ज्यादा बिके चांदी के सिक्के: सजी-संवरी दुकानों पर सुबह से ही ग्राहकों की भीड़ उमड़ी। शुभ मुहूर्त में लोगों ने शगुन के तौर पर सबसे ज्यादा चांदी के सिक्के खरीदे। चांदी की बिछिया और शगुन के तौर पर चांदी के दीपक की भी बिक्री हुई। सराफा व्यापारी पप्पू के अनुसार धनतेरस का दिन व्यवसाय के लिहाज से अच्छा साबित हुआ।

शगुन के लिए खरीदे तांबे-पीतल के बर्तन: हर साल की तरह इस बार भी लोगों का रुझान बर्तनों की खरीदी की ओर ज्यादा रहा। चमचमाते बर्तनों से बिखरी चमक के बीच सुबह से शाम तक जमकर खरीदारी हुई। बहुत से लोग पुराने बर्तन के बदले नए बर्तन खरीदे। शगुन के तौर पर तांबे और पीतल के बर्तनों की जमकर खरीदारी हुई।

एलसीडी, एलइडी व डीटीएच की रही मांग: धनतेरस के शुभ मुहूर्त में अच्छी खरीदारी की संभावना के मद्देनजर इलेक्ट्रानिक आइटम की दुकानें सजी रहीं। सबसे ज्यादा मांग एलसीडी, एलइडी व वाशिंग मशीन की रही। इसके अलावा रेफ्रिजरेटर, डीटीएच आदि की जमकर बिक्री हुई। व्यापार की दृष्टि से दिन शुभ रहा।

दीपावली व लाभ पांचम के दिन जोरदार खरीदारी की उम्मीद

बाइक शोरूम पर लगा मेला: धनतेरस आटोमोबाइल क्षेत्र के लिए लक्ष्मी बरसा गई। दो पहिया, चार पहिया व सवारी वाहनों की खूब बिक्री हुई। वहीं किसानों ने कृषि के लिए ट्रैक्टर खरीदे। अब दीपावली व लाभ पांचम के दिन जोरदार खरीदारी की उम्मीद है।

सोफासेट और आलमारी का उठाव: व्यवसाय के हिसाब से धनतेरस फर्नीचर विक्रेताओं के लिए अच्छी रही। दुकानों पर खरीदारी के लिए लोगों का हुजूम उमड़ा। मुख्य रूप से सोफासेट व आलमारी का उठाव हुआ। इसके अलावा डबल बेड, टीवी शोकेस, डायनिंग टेबल के प्रति लोगों में रुझान रहा।

 Also Read: दिवाली 2021: रोशनी और पवित्रता के त्यौहार दिवाली का महत्व

परदा, बेडशीट व सोफा कवर खरीदे: रेडिमेड कपड़ों के साथ गृह सज्जा उपयोग में आने वाले कवर, परदे, बेडशीट, सोफा कवर, साड़ी आदि की दुकानों पर विशेषकर महिलाओं की खासी भीड़ रही। खरीदारी के प्रति उनका उत्साह महंगाई को मात दे रहा था।

सोने-चांदी की चमक के सथ खनके बर्तन: धनतेरस पर मंगलवार को नगर समेत आसपास के बाजारों में रौनक देखने को मिली। परंपरा का निर्वाह कर लोगों ने बर्तन, सोने-चांदी के सिक्के, वाहन, इलेक्ट्रानिक्स आदि की खरीदारी की। धनतेरस पर खरीदारी करने पहुंची भीड़ का एक बड़ा समूह बर्तन दुकानों पर दिखा।

सबसे ज्यादा बाल्टी, गिलास, टिफिन, तवा, केतली, प्रेशर कुकर, रसोई की जरूरत की अन्य सामग्रियों की जबरदस्त बिक्री हुई। तांबे के बर्तन भी खास पसंद किए गए। वहीं परंपरा का निर्वहन कर लोग धनतेरस पर झाडू खरीदना नहीं भूल रहे थे।

Related posts

टाटा मोटर्स ने लॉन्च किया नया ट्रक, वजन 31 टन

Buland Dustak

क्रिप्टो करेंसी को रेगुलेट करेगी केंद्र सरकार, बैलेंस शीट में उल्लेख करना अनिवार्य

Buland Dustak

म्युचुअल फंड में निवेश करना महंगा हुआ

Buland Dustak

वित्त मंत्रालय ने 25 राज्‍यों के पंचायत को दिए 8923.8 करोड़ रुपये

Buland Dustak

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के लिए 70% ट्रेड मार्जिन फिक्स

Buland Dustak

तेल का उत्पादन बढ़ाने पर बनी सहमति, भारत को मिलेगी बड़ी राहत

Buland Dustak