देश

दिसम्बर-2023 तक पूर्ण होगा उत्तर-पश्चिम रेलवे जोन का विद्युतीकरण : रेलवे जीएम

बीकानेर, 18 फरवरी (हि.स.)। भारतीय रेलवे में पर्यावरण संरक्षण पर विशेष ध्यान देने के उद्देश्य से सम्पूर्ण रेलमार्गों का विद्युतीकरण पूर्ण करने का लक्ष्य दिसम्बर 2023 निर्धारित किया गया है। लक्ष्य के अनुसार उत्तर-पश्चिम रेलवे काम कर रहा है। इस कार्य के लिए पर्याप्त बजट का आवंटन भी किया जा चुका है। यह जानकारी शुक्रवार सांय बीकानेर आए उत्तर-पश्चिम रेलवे के जीएम विजय शर्मा ने पत्रकारों को दी।

उत्तर-पश्चिम रेलवे

उन्होंने कहा कि जिस पर उत्तर पश्चिम रेलवे लक्ष्यानुसार कार्य कर रहा है तथा इस कार्य के लिए पर्याप्त बजट का आवंटन किया गया है। विगत समय में उत्तर पश्चिम रेलवे का कार्यनिष्पादन बेहतर रहा है तथा यह रेलवे यात्री सुविधाओं के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया जा रहा है। इस वर्ष बजट में उत्तर पश्चिम रेलवे को कुल 6724 करोड़ का आवंटन किया गया है जो गत वर्ष की तुलना में 44 प्रतिशत अधिक है।

नई लाइनों के काम भी तेजी से हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि आगामी वित्तीय वर्ष में फुलेरा-डेगाना व डेगाना-राई का बाग रेलमार्ग के शेष रहे रेलखण्डों के दोहरीकरण कार्य को पूरा करने का लक्ष्य तय किया गया है। डेढ़ सौ किलोमीटर का दोहरीकरण का कार्य चल रहा है।

उन्होंने यह भी बताया कि ट्रेन ऑपरेशन के साथ-साथ रेलयात्रियों की सुविधाओं का ध्यान रखा जा रहा है। यात्रियों की सुरक्षा सम्बन्धी प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि आरपीएफ टीम बेहतर कार्य कर रही है। सीसीटीवी कैमरों पर भी मॉनिटरिंग की जा रही है। सेफ्टी ड्राईव के तहत कार्य किया जा रहा है। वहीं लम्बी दूरी की गाडिय़ों में महिलाओं, बच्चियों के लिए शुरु के स्टेशन से लेकर गंतव्य स्टेशन तक चेक करते हैं। प्रेस-कांफ्रेंस में डीआरएम राजीव सक्सेना, सीपीआरओ कैप्टन शशि किरण सहित अनेक रेलवे अधिकारी मौजूद थे।

रेलवे जीएम का अभिनंदन

रेलवे जीएम विजय शर्मा का जिला उद्योग संघ की ओर से अभिनंदन किया गया। इस अवसर पर द्वारकाप्रसाद पचीसिया, नरेश मित्तल, विनोद गोयल, भगवती प्रसाद, मनीष तापडिय़ा, जयदेव शर्मा ने उन्हें बुके, शॉल ओढ़ाया और रेलयात्रियों को होने वाली समस्याओं के बारे में अवगत कराते हुए उनके समाधान के लिए सुझाव का ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में बताया गया कि प्रतिदिन चलने वाली गाड़ी संख्या 12404/12403 जयपुर इलाहाबाद को बीकानेर तक विस्तारित किये जाने का आदेश हो चुका है लेकिन इसको अभी तक बीकानेर से चलाया नहीं गया है इसको चलाने से बीकानेर के आम नागरिकों को धार्मिक यात्रा हेतु मथुरा आना जाना सुलभ हो जाएगा।

बीकानेर से अमृतसर के मध्य बीकानेर-अमृतसर गरीब रथ रेल्वे बोर्ड द्वारा स्वीकृत हो चुका है जिसे उत्तर रेल्वे द्वारा संचालित किया जाना है और यह गाड़ी अभी तक शुरू नहीं हो पाई है। बीकानेर से दिल्ली के मध्य इंटरसिटी ट्रेन चलवाने, बीकानेर-हावड़ा प्रतिदिन चलाने की मांग भी की गयी।

Read More:- काव्य के विविध रंगों से सजा होगा जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2022

Related posts

खत्म हुआ इन्तजार, अंबाला एयरबेस पहुंचे पांच राफेल

Buland Dustak

नमामि गंगे योजना: सड़क कटिंग का मलबा धौली गंगा में हो रहा निस्तारित

Buland Dustak

Cooperative Conference: देश को 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनाने में जोर

Buland Dustak

वायुसेना देश की रक्षा करने में पूरी तरह सक्षम : एयर चीफ मार्शल

Buland Dustak

केदारनाथ यात्रा दो दिन से ठप, सोनप्रयाग में 150 तीर्थ यात्री फंसे

Buland Dustak

पहले चरण में 35% उम्मीदवार करोड़पति, 21 पर हत्या के प्रयास का मामला : ADR

Buland Dustak