36.8 C
New Delhi
May 26, 2024
देश

वाइस एडमिरल नैथानी होंगे जहाजों​, ​पनडुब्बियों के प्रोडक्शन कंट्रोलर

- वाइस एडमिरल एसआर सरमा से कार्यभार ग्रहण किया

नई दिल्ली: वाइस एडमिरल संदीप नैथानी ने सोमवार को नौसेना में युद्धपोत उत्पादन और अधिग्रहण के नियंत्रक का चार्ज संभाला। उन्होंने नौसेना के प्रमुख विद्युत प्रशिक्षण प्रतिष्ठान आईएनएस वलसुरा की भी कमान संभाली। ​उन्होंने वाइस एडमिरल एसआर सरमा से कार्यभार ग्रहण किया है।

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला पुणे के स्नातक​ वाइस एडमिरल संदीप ​​नैथानी​ 01 जनवरी 1985 को भारतीय नौसेना ​में कमीशन हुए थे​।​ उनकी पहली नियुक्ति ​नौसेना की विद्युत शाखा में ​हुई थी​​।​ वह नौसेना के सबसे वरिष्ठ तकनीकी अधिकारी के रूप में ​​जहाजों​, ​पनडुब्बियों के लिए सभी प्रकार के उपकरणों और हथियार प्रणालियों के चयन, प्रेरण और रखरखाव से संबंधित सभी पहलुओं के प्रभारी होंगे।​

वाइस एडमिरल संदीप नैथानी
वाइस एडमिरल संदीप नैथानी

नैथानी​ आईआईटी​,​ दिल्ली से रडार एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग में पोस्ट ग्रेजुएट और डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज (डीएसएससी) और नेशनल डिफेंस कॉलेज (एनडीसी) ​के पूर्व छात्र हैं।​ साढ़े तीन दशकों​ के अपने शानदार नौसैनिक करियर के दौरान​ ​वह ​विभिन्न चुनौतीपूर्ण ​पदों पर रहे हैं।​ ​​​

संदीप नैथानी का कार्य अनुभव

वाइस एडमिरल संदीप नैथानी ने ​​विमान वाहक पोत ​’​विराट​’​ ​पर ​विभिन्न क्षमताओं ​के साथ सेवा दी है। ​वह मुंबई और विशाखापत्तनम ​के नौसेना डॉकयार्ड में​, नौसेना मुख्यालय के स्टाफ, कार्मिक और मैटरियल शाखाओं में महत्वपूर्ण ​पदों पर रहे हैं​।​ इसके साथ ही एडमिरल ने नौसेना के प्रमुख विद्युत प्रशिक्षण प्रतिष्ठान, आईएनएस वलसुरा की भी कमान संभाली है​​। ​एक फ्लैग ऑफिसर के रूप में एडमिरल ने नौसेना मुख्यालय में मेटरियल (आधुनिकीकरण) के सहायक प्रमुख के रूप में कार्य किया है​​।​​ 

इसके अलावा वह मुख्यालय डब्ल्यूएनसी​ में ​चीफ स्टाफ ऑफिसर (​टेक्नीकल​), ​नौसेना डॉकयार्ड मुंबई के एडमिरल अधीक्षक​ और मुंबई में महानिदेशक नौसेना परियोजना​​, मुख्यालय एटीवीपी​ में कार्यक्रम निदेशक​ ​​​​भी रहे हैं।​ 

वाइस एडमिरल नैथानी होंगे जहाजों​, ​पनडुब्बियों के प्रोडक्शन कंट्रोलर वह नौसेना के सबसे वरिष्ठ तकनीकी अधिकारी के रूप में ​​जहाजों​, ​पनडुब्बियों के लिए सभी प्रकार के उपकरणों और हथियार प्रणालियों के चयन, प्रेरण और रखरखाव से संबंधित सभी पहलुओं के प्रभारी होंगे।​ 

यह भी पढ़ें: नौसेना ने मनाई गोवा मुक्ति दिवस की 60वीं वर्षगांठ, शहीद नाविकों को दी श्रद्धांजलि

Related posts

वर्ष 2022 कैलेंडर: 31 सार्वजनिक एवं 21 ऐच्छिक अवकाश घोषित

Buland Dustak

पश्चिमी ​हिन्द महासागर में चार देशों की नौसेना का अभ्‍यास​​ ​शुरू

Buland Dustak

केन्द्र सरकार ने भारत बायोटेक से 55 लाख डोज खरीदने का दिया ऑर्डर

Buland Dustak

अहमदाबाद में बरसा तूफान ताउते का कहर, अभी 6 घंटे और भारी

Buland Dustak

वायुसेना को रूस से मिलेंगी 70 हजार AK-103 Assault Rifles

Buland Dustak

सेना भर्ती घोटाला: 6 लेफ्टिनेंट कर्नल समेत 17 अफसरों पर FIR

Buland Dustak