43.1 C
New Delhi
May 25, 2024
एजुकेशन/करियर

स्व. दत्तोपंत ठेंगड़ी के नाम से जानी जाएगी नागपुर विश्वविद्यालय बिल्डिंग

नागपुर, 30 जनवरी

राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय की ओर से स्व. दत्तोपंत ठेंगड़ी को जन्मशती के अवसर पर अनूठी श्रद्धांजलि अर्पित की गई है। विश्वविद्यालय की ह्यूमनिटीज बिल्डिंग को स्व. दत्तोपंत ठेंगड़ी का नाम दिया गया है। विश्वविद्यालय में शुक्रवार को संपन्न हुई मैनेजमेंट काउन्सिल की बैठक में यह फैसला लिया गया।

भारतीय मजदूर संघ, भारतीय किसान संघ और स्वदेशी जागरण मंच जैसे संगठनों की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले ठेंगड़ी की अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के गठन में भी भूमिका रही है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक रहे ठेंगड़ी की इस वर्ष जन्मशती मनाई जा रही है।

स्व. दत्तोपंत ठेंगड़ी के नाम से जानी जाएगी नागपुर विश्वविद्यालय बिल्डिंग

नागपुर विश्वविद्यालय की स्थापना 4 अगस्त 1923 को हुई थी। वर्ष 1925 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना भी नागपुर में ही हुई थी। 98 वर्ष के इस विश्वविद्यालय में संघ से जुड़ाव दर्शाने वाला एक भी प्रतीक नहीं था। बीते 9 दशकों में पहली बार संघ से जुड़े महापुरुषों के नाम पर विश्वविद्यालय में कोई भवन होगा।

विश्वविद्यालय में शुक्रवार को हुई बैठक में ह्यूमनिटीज डिपार्टमेंट के डीन डॉ. निर्मल कुमार सिंग ने ह्यूमनिटीज भवन को स्व. दत्तोपंत ठेंगड़ी का नाम देने का प्रस्ताव रखा। इस प्रस्ताव का सीनेट तथा मैनेजमेंट काउन्सिल सदस्य विष्णु चांगदे ने अनुमोदन किया।

इसके बाद सभी सदस्यों ने एकमत से इस प्रस्ताव का समर्थन किया। विष्णु चांगदे ने बताया कि देश के युवाओं में राष्ट्रवाद का अलख जगाने में स्व. ठेंगड़ी का बहुत बड़ा योगदान रहा है। ह्यूमॅनिटीज भवन को स्व.ठेंगड़ी का नाम देने से उनके योगदान का स्मरण रहेगा और छात्रों को प्रेरणा भी मिलती रहेगी।

विवि का सम्मान बढ़ेगा : निर्मल

डॉ. निर्मल कुमार सिंग ने कहा कि इस वर्ष हम स्व. दत्तोपंत की जन्मशती मना रहे हैं। भारतीय समाज के लिए स्व.दत्तोपंत का बहुत बड़ा योगदान रहा है। विश्वविद्यालय के एक भवन को उनका नाम देने से राष्ट्रवाद की प्रेरणा मिलती रहेगी। विश्वविद्यालय का सम्मान भी बढ़ेगा। डॉ. सिंग ने बताया कि यह कार्य उनके कार्यकाल में होने की वजह से गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।

https://bulanddustak.com/education/hindi-diwas-celebration/

Related posts

विद्यार्थियों के लिए अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य दोनों महत्वपूर्ण: शिवराज सिंह

Buland Dustak

निशंक ने मनोदर्पण वेब पेज और हेल्पलाइन नंबर किया लॉन्च

Buland Dustak

गुजरात के धोलेरा में बनेगा दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा एजुकेशन हब

Buland Dustak

केंद्र सरकार ने 7 वर्ष से बढ़ाकर आजीवन कि TET Certificate की वैधता

Buland Dustak

IIT Kanpur ने तैयार किया सांसों की संजीवनी ‘OXYRise’

Buland Dustak

आईआईटी का अनुसंधान एवं विकास मेला नवंबर में होगा आयोजित

Buland Dustak