43.1 C
New Delhi
May 25, 2024
एजुकेशन/करियर

गुजरात के धोलेरा में बनेगा दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा एजुकेशन हब

गांधीनगर/अहमदाबाद, 26 दिसम्बर

गुजरात का धोलेरा 5,000 एकड़ के क्षेत्र में दक्षिण एशिया का पहला सबसे बड़ा एजुकेशन हब होगा, जिसमें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय होंगे।
यहां ऑक्सफोर्ड, कैम्ब्रिज और येल परिसरों की स्थापना होगी,जिससे छात्रों को वर्तमान समय में दुनिया में उपलब्ध लगभग सभी पाठ्यक्रम यहां उपलब्ध होंगे।

गुजरात सरकार ने हाल ही में मुख्यमंत्री विजय रूपानी की उपस्थिति में धोलेरा में गुजरात विशेष शिक्षा क्षेत्र स्थापित करने के लिए भारत के सबसे बड़े शिक्षा बुनियादी ढांचे फंड, सेरेस्ट्रा वेंचर्स, तेलंगाना के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

ऑक्सफोर्ड, कैम्ब्रिज और येल जैसे विश्वविद्यालय आएंगे गुजरात 

गुजरात के धोलेरा में बनेगा दक्षिण एशिया का सबसे बड़ा एजुकेशन हब

इस शिक्षा क्षेत्र की सबसे बड़ी विशेषता यह होगी कि विदेशी मेडिकल कॉलेज भी यहां आएंगे। तब मेडिकल की सीटें कम होने के कारण गुजरात और भारत के छात्रों को रूस, चीन या अन्य देशों में नहीं जाना पड़ेगा। अपेक्षाकृत कम लागत पर आप अब गुजरात से एक विदेशी विश्वविद्यालय में प्रवेश पा सकेंगे और एक चिकित्सा डिग्री उपलब्ध होगी।

यह विशेष शिक्षा क्षेत्र शुरू में 1000 एकड़ में फैला होगा और 5000 एकड़ का एक बड़ा क्षेत्र इसके लिए निर्धारित किया गया है। इसमें यूनिवर्सिटी डिस्ट्रिक्ट, स्कूल डिस्ट्रिक्ट, डिस्कवरी डिस्ट्रिक्ट, इनोवेशन डिस्ट्रिक्ट के साथ-साथ कॉमन इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे विभिन्न विभागों में हॉस्टल, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, लाइब्रेरी, रिक्रिएशन जोन, शॉपिंग और कई और सुविधाएं छात्रों के लिए होंगी।

मुख्यमंत्री के अग्र सचिव मनोज कुमार दास ने कहा कि यह गुजरात में ऑक्सफोर्ड जैसे विश्वविद्यालयों के संचालन के लिए एक सपने की तरह है लेकिन अब यह विशेष शिक्षा क्षेत्र के कारण संभव होगा।सेरेस्ट्रा ग्रुप के पास इस तरह के शिक्षा के बुनियादी ढांचे के निर्माण का व्यापक अनुभव है।

गुजरात सरकार ऐसे शिक्षा क्षेत्र को बनाने के लिए सेरेस्ट्रा को कोई प्रोत्साहन नहीं देने जा रही है,इसलिए यह सरकारी खजाने पर बोझ नहीं होगा। मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने एक ऐसे एजुकेशन हब का सपना देखा था,जो आने वाले साल में पूरा हो जाएगा। 

सेरेस्ट्रा के मैनेजिंग पार्टनर जसमीत छाबड़ा ने कहा, “दुनिया के सभी पाठ्यक्रमों के लिए मेडिकल, इंजीनियरिंग से लेकर अस्पताल, प्रयोगशालाओं, अनुसंधान सुविधाओं तक सभी आवश्यक सुविधाएँ यहाँ उपलब्ध होंगी।” हमारी निकट भविष्य में दुनिया के 100 सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों की योजना है। विश्वविद्यालय के नियमों के अनुसार छात्रों को यहां से शिक्षा, प्रमाण पत्र और डिग्री मिलेगी लेकिन यह न केवल गुजरात या भारत के छात्रों के लिए बल्कि पूरे दक्षिण एशिया से भी बहुत अच्छा अवसर होगा, क्योंकि इस क्षेत्र में ऐसा कोई स्थान नहीं है।

Related posts

आईआईटी का अनुसंधान एवं विकास मेला नवंबर में होगा आयोजित

Buland Dustak

आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा 23 जुलाई से, 2.78 लाख अभ्यर्थी लेंगे भाग

Buland Dustak

स्व. दत्तोपंत ठेंगड़ी के नाम से जानी जाएगी नागपुर विश्वविद्यालय बिल्डिंग

Buland Dustak

Cognizant Hiring 2021: भारत में बड़ी संख्या में भर्ती की तैयारी में यह कंपनी

Buland Dustak

नई शिक्षा नीति लागू, फिर शिक्षा मंत्रालय कहलाएगा एचआरडी

Buland Dustak

जेईई मेन-2021 के मार्च सत्र के परिणाम में 13 उम्मीदवारों ने 100 परसेंटाइल किया स्कोर

Buland Dustak