34 C
New Delhi
April 20, 2024
एजुकेशन/करियर

ARAAI Ranking 2020 : आईआईटी-मद्रास शीर्ष रैंक पर

- निजी संस्थानों में ओडिशा का कलिंग इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेकनोलॉजी आया अव्वल

नई दिल्ली: ARAAI Ranking 2020 में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) मद्रास का शीर्ष रैंकिंग पर कब्जा बरकरार है। वह पिछले साल भी प्रथम स्थान पर था। दूसरे स्थान पर आईआईटी बॉम्बे और तीसरे स्थान पर आईआईटी दिल्ली है। निजी संस्थानों में ओडिशा का कलिंग इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेकनोलॉजी (केआईआईटी) पहले पायदान पर है। 

ARAAI Ranking 2020 educational institutes ranking
ARAAI Ranking 2020

उप राष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू मंगलवार को अटल नवाचार उपलब्धि संस्थान रैंकिंग (ARAAI Ranking) 2020 के परिणाम घोषित किये। वेंकैया ने इनोवेशन के लिए संस्थानों को ‘अटल रैंकिंग ऑफ इंस्टीट्यूशंस ऑन इन्नोवेशन अचीवमेंट्स-2020‘ पुरस्कार भी प्रदान किए।

उप राष्ट्रपति ने इनोवेशन पर दिया जोर

उन्होंने कहा विगत पांच वर्षों में भारत ने इनोवेशन और उद्यमिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय प्रगति की है। ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में हम 2015 में 81वें स्थान की तुलना में 2019 में 52वें स्थान पर पहुंच गए। ARAAI 2020 के लिए कुल 674 संस्थानों ने हिस्सा लिया था। खास बात रही कि इस बार महिलाओं को प्रोत्साहित करने और नवाचार व उद्यमिता के क्षेत्र में लैंगिक समानता लाने के उद्देश्य से महिलाओं वाले उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए एक विशेष श्रेणी भी शामिल की गई थी। यह छह पुरस्कार श्रेणियां हैं।

1. श्रेणी : राष्ट्रीय महत्व का संस्थान, केंद्रीय विश्वविद्यालय और सीएफटीआईएस (शीर्ष 10 रैंक) 

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मद्रास रैंकिंग में एक बार फिर पहले स्थान पर आया है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बॉम्बे दूसरे, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान दिल्ली तीसरे, भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी) बेंगलुरु चौथे, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान खड़गपुर पांचवें स्थान पर है। इसके अलावा छठे स्थान पर भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान कानपुर, सातवें पर भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान मंडी, आठवें पर राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान कालीकट, नवें स्थान पर भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान रुड़की और 10वें स्थान पर हैदराबाद विश्वविद्यालय तेलंगाना है। 

2. सरकार और सरकारी सहायता प्राप्त विश्वविद्यालय (शीर्ष 5 रैंक) 

इस श्रेणी में पहले पायदान पर इंस्टीट्यूट ऑफ केमिकल टेक्नोलॉजी महाराष्ट्र है। दूसरे स्थान पर पंजाब विश्वविद्यालय, तीसरे स्थान पर हरियाणा का चौधरी चरण सिंह कृषि विश्वविद्यालय है। इस श्रेणी में चौथे स्थान पर संयुक्त रूप से गुजरात का आनंद कृषि विश्वविद्यालय और तमिलनाडु का पेरियार विश्वविद्यालय हैं। पांचवें स्थान पर दिल्ली का नेताजी सुभाष इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी और गुजरात का ग्रेजुएट स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी शामिल हैं।

3. सरकार और सरकारी सहायता प्राप्त कॉलेज / संस्थान (शीर्ष 5 रैंक) 

कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग पुणे इस सूची में प्रथम स्थान पर है। कर्नाटक का टीवीएस इंजीनियरिंग कॉलेज दूसरे स्थान पर, तमिलनाडु का कोयंबटूर इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी तीसरे स्थान पर और महाराष्ट्र का श्री गुरु गोविंद सिंह इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी चौथे स्थान पर है। पांचवें स्थान पर संयुक्त रूप से तमिलनाडु और महाराष्ट्र के पीएसजीआर कृष्ण मल कॉलेज फॉर वुमन और वीरमाता जीजाबाई टेक्नोलॉजी इंस्टिट्यूट हैं।

4. निजी और स्ववित्तपोषित विश्वविद्यालय (शीर्ष 5 रैंक)

निजी संस्थानों की इस श्रेणी में कलिंग इंस्टीट्यूट ऑफ इंडस्ट्रियल टेकनोलॉजी (केआईआईटी) ओडिशा पहले स्थान पर है। इसके बाद अगले चार पायदान पर तमिलनाडु के संस्थानों ने कब्जा जमाया है। दूसरे स्थान पर एसआरएम इंस्टीट्यूट आफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी, तीसरे स्थान पर वेल्लोर इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी, चौथे स्थान पर अमृत विश्व विद्यापीठम और पांचवें स्थान पर सत्यभामा इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी है। 

5. निजी और स्ववित्तपोषित कॉलेज/ संस्थान (शीर्ष 5 रैंक) 

इस श्रेणी में तेलंगाना के एस आर इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रथम स्थान पाया है। दूसरे स्थान पर संयुक्त रूप से जीएच रायसोनी कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग नागपुर और तमिलनाडु का श्री कृष्ण कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी है। तीसरे स्थान पर कर्नाटक का एन आई टी टी ई मीनाक्षी इंस्टीट्यूट टेक्नोलॉजी है। चौथे स्थान पर तमिलनाडु का श्री कृष्ण कॉलेज ऑफ़ टेक्नोलॉजी और पांचवें स्थान पर तेलंगाना का सीएमआर कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी है। 

6. महिलाएं (केवल उच्च शिक्षण संस्थान):

इस श्रेणी में अविनाशिलिंगम होम साइंस और महिलाओं के लिए उच्च शिक्षा संस्थान और इंदिरा गांधी दिल्ली तकनीकी महिला विश्वविद्यालय शामिल हैं।

Read More: निशंक ने इंटर्नशिप युक्त डिग्री के लिए जारी किये यूजीसी के दिशानिर्देश

Related posts

“परीक्षा पे चर्चा”-2021 में अभिभावक भी कर सकेंगे प्रधानमंत्री से संवाद

Buland Dustak

IIT Bombay की प्रतिभाशाली मानव पूंजी रोजगार सृजनकर्ता के रूप में उभरेगी

Buland Dustak

विद्यार्थियों के लिए अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य दोनों महत्वपूर्ण: शिवराज सिंह

Buland Dustak

हिंदी दिवस: हिंदी सिर्फ एक भाषा नहीं बल्कि प्राण वायु है

Buland Dustak

ऊर्जा व जलवायु समाधान के लिए IIT Kanpur में बनेगा चंद्रकांता केसवन केन्द्र

Buland Dustak

मिस इंडिया फाइनलिस्ट Aishwarya Sheoran ने क्लियर किया यूपीएससी

Buland Dustak