36.8 C
New Delhi
May 26, 2024
एजुकेशन/करियर

2021 उम्मीदों भरा : फिर से होंगी भर्तियां, मिलेगी नौकरी

– 2021 नौकरी डॉट काम के सर्वेक्षण में हुआ खुलासा

नई दिल्ली, 02 जनवरी

2021 हमारी जिंदगी में नई उम्मीदों और ऊर्जा के साथ आगे बढ़ने का हौसला लेकर प्रवेश कर चुका है। सकारात्मक तरीके से इसका स्वागत करने के साथ ‘जीवन चलने का नाम’ के मूलमंत्र को गांठ बांधकर हमें आगे बढ़ना है।

2020 में कोरोना ने कईयों के करीबियों को छीना तो कइयों की उम्मीदों के पंखों को कुचल डाला। लाखों लोग बेरोजगार हो गए। नौकिरियां छिन गईं, कारोबार ठप हो गए। कहते हैं कि गहरे अंधेरे के बाद हमेशा सुबह की नईं किरण दिखाई देने लगती है। ऐसी ही नईं उम्मीद की किरण दिखाई है रोजगार संबंधी सेवाएं देने वाली वेबसाइट नौकरी डॉट कॉम के ‘हायरिंग आउटलुक सर्वे’ ने।

नौकरी 2021

अगले 3-6 महीने में प्री-कोविड स्तर पर होंगी भर्तियां

बाजार में हालात सुधरने के साथ ही हायरिंग कंपनियां भी नए साल में रिकवरी को लेकर आशावान हैं। करीब 26 फीसदी नियोक्ताओं को उम्मीद है कि अगले 3-6 महीने में भर्तियां कोविड से पहले के स्तर पर पहुंच सकती हैं। 34 फीसदी नियोक्ताओं का मानना है कि इसमें छह महीने से एक साल तक का समय लग सकता है।

रोजगार संबंधी सेवाएं देने वाली वेबसाइट नौकरी डॉट कॉम के ‘हायरिंग आउटलुक सर्वे’ में यह खुलासा हुआ है। सर्वे के अनुसार, नियोक्ता नए साल को लेकर काफी आशावान लग रहे हैं।

कंपनी ने एक बयान में बताया कि इस सर्वे में देशभर के 1,327 रिक्रूटर्स और कंसल्‍टेंट्स को शामिल किया गया। नौकरी डॉट कॉम ने इसके अलावा अपने प्‍लेटफॉर्म पर उपलब्ध एक लाख से अधिक नियोक्ताओं के आंकड़ों का भी विश्लेषण किया। कोविड से पहले का स्तर तय करने के लिए कंपनी ने जनवरी और फरवरी के रोजगार संबंधी आंकड़ों को आधार बनाया।

सर्वेक्षण में पता चला कि कोविड के दौरान मेडिकल/हेल्‍थकेयर, आईटी, बीपीओ/आईटीईएस जैसे उद्योगों पर कम प्रभाव पड़ा है लेकिन खुदरा, हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल जैसे कुछ क्षेत्रों ने परिस्थिति का सामना करने में काफी संघर्ष किया है।

इसमें कहा गया है कि 2020 की शुरुआत कुल मिलाकर सकारात्मक हुई थी लेकिन, मार्च आते-आते कोविड-19 ने इसे बुरी तरह से प्रभावित कर दिया। लॉकडाउन के बाद तो  इसमें पूरी तरह से ठहराव ही आ गया। जून में अनलॉक की शुरुआत से ही रोजगार बाजार में धीरे-धीरे सुधार भी होने लगा।

नियोक्ताओं को नए साल से हैं काफी उम्मीदें

हॉस्पिटैलिटी और ट्रैवल ऐसे क्षेत्र हैं, जिनमें कोविड के दौरान सबसे ज्यादा नौकरियां गईं। होटल, रेस्तरां, बार, पर्यटन स्थल पूरी तरह से सुनसान थे। इन क्षेत्रों के नियोक्ताओं को ना सिर्फ मजबूरन अपने स्टाफ को नौकरी से हटाना पड़ा, बल्कि उन्हें खुद भी भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ा। अब इनमें फिर से उम्मीदें जगने लगी हैं। पर्यटन स्थलों पर बढ़ती सैलानियों की आवक से ये क्षेत्र धीरे-धीरे फिर से गुलजार होने लगे हैं।

वैक्सीन आने की खबरें पुख्ता होने से नियोक्ताओं ने भी अपने बिजनेस को फिर से प्री-कोविड स्थिति में लाने की तैयारी शुरू कर दी है। बिजनेस के विस्तार के साथ ही फिर से उन्हें जरूरत महसूस होने लगी है लोगों काे हायर करने की। सर्वे के मुताबिक कोविड के दौरान जिन नियोक्ताओं ने अपने स्टाफ को निकाल दिया था, वे उन्हें वापस बुलाने की तैयारी में हैं जबकि कुछ नई भर्तियां करने पर गंभीरता से विचार कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें: CTET- केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा जनवरी 2021 का परिणाम घोष‍ित

Related posts

IIT Delhi ने इलेक्ट्रिक मोबिलिटी में शुरू किया MTech Course

Buland Dustak

Jee Advanced 2021 : 3 अक्टूबर को ढाई लाख विद्यार्थी देंगे परीक्षा

Buland Dustak

केंद्र सरकार ने 7 वर्ष से बढ़ाकर आजीवन कि TET Certificate की वैधता

Buland Dustak

आईआईटी कानपुर ने बनाया 7 किलो का विभ्रम हेलीकॉप्टर

Buland Dustak

ओएमआर आंसर शीट में गड़बड़ी पर एनटीए को हाईकोर्ट का नोटिस

Buland Dustak

QS World University Ranking में 3 भारतीय विश्वविद्यालय शीर्ष -200 पर

Buland Dustak