उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश की कोविड राजधानी बना लखनऊ, 24 घंटे में 36 मरीजों की मौत

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के कहर के बीच लखनऊ सबसे ज्यादा प्रभावित है और यहां बीते 24 घंटे में 36 मरीजों की कोरोना से मौत हो चुकी है। वही अभी तक कुल 14 सौ 81 लोगों की मृत्यु होना पाया गया है।

लखनऊ में बीते 24 घंटे के भीतर 5913 नए मरीज कोविड संक्रमित पाए जाने के बाद विभिन्न अस्पतालों में भर्ती किए गए हैं। लखनऊ के अस्पतालों में अधिकांश जगहों पर बेड फुल हो चुके हैं और प्राइवेट 17 अस्पतालों को कोविड के मरीज भर्ती करने के लिए आदेशित किया गया है।

कोविड

आज लखनऊ के लोहिया अस्पताल में ऑक्सीजन के समाप्त हो जाने के कारण हाहाकार मच गया। इस दौरान 2 मरीजों की स्थिति भी बिगड़ी। पीजीआई के बाहर कोरोना संक्रमित मरीजों के परिजन पहुंचे लेकिन वहां अपने मरीज को भर्ती नहीं करा सके। पीजीआई प्रबंधन द्वारा बताया गया कि किसी भी स्थिति में नए मरीज लेने की व्यवस्था नहीं बन पा रही है।

लखनऊ की तरह ही प्रदेश में कानपुर और वाराणसी के भी हालात बेहद चिंताजनक बने हुए हैं। कानपुर में 934 और वाराणसी में 506 के करीब कोरोना संक्रमित मरीजों की मृत्यु हो चुकी है। उत्तर प्रदेश में अभी तक कुल 9703 क्रोनर संक्रमित मरीजों की मौत हुई है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के भीतर 27357 नए मामले सामने आए हैं। जिनमें 120 कोरोना संक्रमित मरीजों की मृत्यु हो गई सामने आई है। अकेले उत्तर प्रदेश में 170059 एक्टिव के इस वक्त मौजूद है। बीते 24 घंटे में 215790 कोरोना की टेस्टिंग हुई है।

Corona Medicine
लेनी है यह दवाएं
  • आइवेर्मेक्टिन 12 एमजी की एक गोली रात में खाने के बाद एक बार लगातार तीन दिन के लिए
  • एजिथ्रोमायसिन 500 एमजी एक गोली दिन में खाने के बाद एक बार लगातार तीन दिन के लिए
  • डोक्सी 100 एमजी की गोली दिन में दो बार 10 दिन के लिए
  • क्रोसिन 650 एमजी दिन में 4 बार 3 दिन के लिए या शरीर दर्द, बुखार आने पर
  • लिम्सी 500 (एसकोर्बिक एसिड 500 एमजी) एमजी रोज एक 10 दिन के लिए
  • जिंकोनिया 50 एमजी (एलेमेंटल ज़िंक 50 एमजी) रोज एक 10 दिन के लिए
  • कैलसिरोल सचेट हफ्ते में एक बार 6 हफ्तों के लिए।

अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि इन परिस्थितियों दिन में 3-4 लीटर पानी पिये, दिन में कम से कम 3 बार भाप ले, 8 घंटे सोयेँ, 45 मिनट तक व्यायाम करें, समय समय पर ऑक्सीजन का स्तर चेक करते रहे और यदि ऑक्सीजन का स्तर 90 प्रतिशत से नीचे जाता है तो चिकित्सक को दिखाये। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने सभी से अपील किया कि सब लोग मास्क जरूर लगाएं, सामाजिक दूरी का पालन करे, जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकले और समय समय पर हाथ धुलते रहें।

Read More: स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों को कोरोना टीके की बर्बादी रोकने के दिए निर्देश

Related posts

कोरोना संक्रमित कैबिनेट मंत्री चेतन चौहान का निधन

Buland Dustak

विश्व दिव्यांग दिवस पर पुरस्कार के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 15 जुलाई

Buland Dustak

उत्तरप्रदेश में 13 नये मेडिकल कॉलेज बनाए जाने की योजना

Buland Dustak

यूपी के सिर्फ सात जिलों में 18 से 44 साल तक के लोगों को लगेगी वैक्सीन

Buland Dustak

गोरखपुर बन रही ज्ञान की नगरी, एक साथ 2 विश्वविद्यालयों की सौगात

Buland Dustak

चुनाव 2022 : आचार संहिता का अनुपालन, हटायी गयी 10,56,517 प्रचार-प्रसार सामग्री

Buland Dustak