उत्तर प्रदेश

उत्तर लखनऊ रेलवे के  मंडल में बढ़ेंगी यात्री सुविधाएं, तेजी से पूरी होंगी परियोजनाएं

लखनऊ, 04 फरवरी (हि.स.)। उत्तर रेलवे को कई परियोजनाओं के लिए केंद्रीय आम बजट में जरूरत के हिसाब से धनराशि आवंटित की गई है। इससे लखनऊ मंडल के स्टेशनों पर यात्री सुविधाओं, आधुनिकीकरण, इलेक्ट्रिफिकेशन और रेल लाइन के दोहरीकरण के कार्यों में अब और तेजी आएगी।

केंद्रीय आम बजट में उत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल में ट्रैक, यात्री सुविधाओं, ट्रेनों की स्पीड बढ़ाने और मशीनरी मजबूत करने के लिए करीब 680 करोड़ आवंटित किए गए हैं। इसके अलावा जरूरत पड़ने पर अतिरिक्त रकम भी मिल सकती है। केंद्रीय आम बजट में उत्तर रेलवे को नई लाइनें बिछाने, डबलिंग, यात्री सुविधाओं, स्टेशनों के विकास को खास तवज्जो दी गई है।

उत्तर लखनऊ रेलवे

लखनऊ मंडल में अयोध्या होकर तीर्थयात्रियों के लिए हाईस्पीड ट्रेन चलाने की योजना भी चरणबद्ध तरीके से विकसित होगी। पहले चरण में बाराबंकी से अयोध्या होते हुए वाराणसी तक डबलिंग की जाएगी। इसके तहत अभी बाराबंकी से अकबरपुर तक 161 किलोमीटर रूट की डबलिंग और इलेक्ट्रिफिकेशन होगा। इसके साथ यात्रियों की सुविधा के लिए जनरल कोचों में सफर करने के लिए मोबाइल फोन पर घर बैठे टिकट मिलने की योजना भी शामिल है। इसके लिए 4.36 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

इस बार आम बजट में नई परियोजनाओं के बजाय पुरानी योजनाओं को रफ्तार देने का फोकस किया गया है। इसके अलावा कानपुर रेलखंड पर सेमी हाईस्पीड ट्रेनों के संचालन का रास्ता साफ हो गया है। इस रूट पर इंटरलॉकिंग, सिग्नलिंग, पुलों की गर्डर बदलने सहित कई कार्य किए जाएंगे। साथ ही 17.98 लाख रुपये में तीन लूप लाइनें बनाई जाएंगी।

Read More:- सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 टीकाकरण अभियान का प्रथम चरण 07 फरवरी से

वहीं, शाहजहांपुर रेलखंड के बीच 17 लूप लाइनों के लिए 1.10 करोड़ रुपये और जफराबाद रेलखंड के लिए 31.63 करोड़ रुपये का बजट मिला है। लखनऊ के चारबाग रेलवे स्टेशन की सेकेंड एंट्री पर एफओबी बनाने के लिए एक करोड़ रुपये मिले हैं। प्लेटफॉर्मों पर वाॅशेबल एप्रेन के लिए महज एक लाख रुपये की टोकन राशि मिली है। बजट में लोको पायलटों के लिए 125 कमरों का रनिंग रूम और प्लेटफॉर्मों का शेड बनाया जाएगा।

उत्तर रेलवे के लखनऊ मंडल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि इस बार पिंक बुक में लखनऊ की किसी भी नई योजना को शामिल नहीं किया गया है, लेकिन पुरानी परियोजनाओं को गति देने के साथ कुछ योजनाओं को टोकन मनी देकर उसे आगे पूरा करने की मंशा रेलवे ने जतायी है। उन्होंने बताया कि रेलवे ने अपने कर्मचारियों की कॉलोनियों की दशा सुधारने के लिए पिंक बुक में बजट तो नहीं दिया है, लेकिन उसको अंब्रेला प्रोजेक्ट में शामिल किया है।

इसलिए एक मुश्त बजट मिल सकता है। लखनऊ के चारबाग स्टेशन के प्लेटफार्मों की रेल लाइन की जर्जर हालत को सुधारने के लिए वाॅशेबल एप्रेन की मरम्मत की टोकन मनी आवंटित हुई है। साथ ही उत्तर और पूर्वोत्तर रेलवे की लखनऊ की कई पुरानी योजनाओं को बचे हुए बजट का प्रावधान भी किया गया है।

Related posts

यूपी में 24 मई तक बढ़ा कोरोना कर्फ्यू, दुकानदारों को मिलेगा 1000 मासिक भत्ता

Buland Dustak

Hydroponic Farming: बिना मिट्टी की खेती बदलेगी बुंदेलखंड की तस्वीर

Buland Dustak

इंसेफेलाइटिस दिमागी बुखार से पूर्वी उप्र मुक्त होने के कगार पर: सीएम योगी

Buland Dustak

विश्व मृदा दिवस : मिट्टी की लवणता रोके, उत्पादकता को बढ़ावे

Buland Dustak

उप्र : सभी विकास खंडों में जुलाई में खुलेंगे 5 हजार नए सब हेल्थ सेंटर

Buland Dustak

यूपी में पूर्ण लॉकडाउन लगाने पर कोई विचार नहीं: मुख्यमंत्री योगी

Buland Dustak