29 C
New Delhi
April 21, 2024
देश

मोटेरा स्टेडियम अब ‘नरेंद्र मोदी स्टेडियम’ के नाम से जाना जायेगा

अहमदाबाद के मोटेरा में नवनिर्मित विश्व का सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम अब नरेन्द्र मोदी स्टेडियम के नाम से जाना जायेगा। बुधवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस स्टेडियम ने देश काे समर्पित किया। इस स्टेडियम में आज से भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा टेस्ट डे-नाइट मैच खेला जायेगा। राष्ट्रपति ने सरदार पटेल के नाम से बनने वाले स्पोर्ट्स एंक्लेव का भूमि पूजन भी किया।

बुधवार सुबह राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मोटेरा में नवनिर्मित विश्व के सबसे बड़े स्टेडियम का उद्घाटन किया। इस मोटेरा स्टेडियम में एक लाख बत्तीस हजार दर्शकों के बैठने की क्षमता है। राष्ट्रपति ने यहां 233 एकड़ में बनने वाले सरदार वल्लभभाई पटेल स्पोर्ट्स एंक्लेव का भूमिपूजन भी किया। इस एंक्लेव में एक हॉकी स्टेडियम भी निर्मित होगा, जो मशहूर हॉकी खिलाड़ी ध्यानचंद के नाम से जाना जायेगा।

मोटेरा स्टेडियम अब 'नरेंद्र मोदी स्टेडियम'

इस मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजु, गुजरात के राज्यपाल आचार्य देवव्रत और गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल, बीसीसीआई के सचिव जय शाह और जीसीसीआई के घनजय नाथवानी भी मौजूद रहे। यहां 233 एकड़ में बनने वाले स्पोर्ट्स एन्क्लेव का नाम अब सरदार पटेल के नाम पर रखा जाएगा

कड़ी सुरक्षा व्यवस्था

शहर में राष्ट्रपति और केन्द्रीय गृह मंत्री के अलावा अन्य कई प्रमुख लोगों के कार्यक्रम को देखते हुए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया था। स्टेडियम के आसपास के क्षेत्र को पुलिस के सील कर देने से क्षेत्र के नागरिकों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। काम पर जाने से देरी होने पर एक महिला ने पुलिस के साथ हाथापाई तक कर दी।

आज से शुरू होगा डे-नाइट टेस्ट मैच

भारत और इंग्लैंड के बीच तीसरा टेस्ट मैच आज से यहां बने दुनिया के सबसे बड़े स्टेडियम में खेला जायेगा। यह टेस्ट मैच डे नाइट होगा और पिंक बॉल के साथ खेला जाएगा। इसके लिए स्टेडियम के बाहर दर्शकों का हुजूम उमड़ पड़ा। भारतीय टीम के के समर्थक रामबाबू भी अहमदाबाद पहुंच गये हैं। रामबाबू पिछले 15 वर्ष से टीम इंडिया के समर्थन के लिए मैच के स्थान पर पहुंच गए हैं।

यह भी पढ़ें: श्रीलंकाई बल्लेबाज उपुल थरंगा ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास

Related posts

सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 टीकाकरण अभियान का प्रथम चरण 07 फरवरी से

Buland Dustak

दिल्ली पुलिस ने गणतंत्र दिवस उपद्रव से ली सीख, कड़े सुरक्षा बंदोबस्त

Buland Dustak

चीन ​के दुश्मन ​वियतनाम ​को भारत ​देगा ​​ब्रह्मोस मिसाइल

Buland Dustak

पद्म पुरस्कार से सम्मानित तीन विशिष्ट विद्वानों का 31 को अभिनंदन

Buland Dustak

राज्यसभा में महामारी रोग संशोधन विधेयक, 2020 पारित

Buland Dustak

सावधान : दिल्ली मेट्रो में अब यह गैंग हो रहा है सक्रिय !

Buland Dustak