43.1 C
New Delhi
May 25, 2024
देश

भारत ने एक करोड़ से अधिक कोविड वैक्सीनेशन करके रचा इतिहास: डॉ. हर्ष वर्धन

- स्वास्थ्य मंत्री ने फ्रंटलाइन वर्कर्स से की आगे बढ़कर कोविड-19 वैक्सीन लगवाने की अपील

नई दिल्ली, 19 फरवरी

केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने शुक्रवार को चिकित्सा समुदाय और फ्रंटलाइन वर्करों से आकर कोविड वैक्सीनेशन कराने की अपील की। यह अपील ऐसे समय में की गई है जब आज भारत ने हेल्थ केयर वर्करों और फ्रंटलाइन वर्करों को एक करोड़ से अधिक वैक्सीन लगाने की उपलब्धि हासिल कर ली है। देश में कोविड-19 के राष्ट्रव्यापी टीकाकरण की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 16 जनवरी, 2021 को की थी।

डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि भारत ने 1,01,88,007 वैक्सीन लगाने की 34 दिन में उपलब्धि प्राप्त की और यह विश्व में तेजी से ऐसा करने वाला दूसरा देश बन गया। हमने 2,11,462 सेशन आयोजित करके 62,60,242 हेल्थ केयर वर्करों को पहली डोज़ दे दी गई है। 6,10,899 हेल्थ केयर वर्करों को दूसरी डोज़ दे दी गई है।

कोविड वैक्सीनेशन1

33,16,866 फ्रंटलाइन वर्करों को पहली डोज़ दे दी गई है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की दो स्वीकृत वैक्सीन कोवैक्सीन और कोविशील्ड के बारे में देश के दवा नियंत्रक ने स्वीकृति दी है।इनकी सुरक्षा और प्रतिरक्षाजनत्व के लिए जांच कर ली गई है और इसे प्रमाणित किया गया है। ये दोनों वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित हैं।

उन्होंने बताया कि वैक्सीन दिए जाने के बाद आज तक विपरीत प्रभाव के कारण अस्पताल में 40 लोग भर्ती किए गए। यह कुल वैक्सीनेशन के मुकाबले केवल 0.0004 फीसदी है। अब तक वैक्सीन (इसे एईएफआई के रूप में जाना जाता है) लगाए जाने के बाद कोई गंभीर/घातक प्रभाव नहीं हुआ है और वैक्सीन के कारण कोई मृत्यु नहीं हुई है। अब तक कुल 32 लोगों की मृत्यु हुई है जो कुल वैक्सीनेशन का महज 0.0003 फीसदी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट से पता चलता है कि ये मौतें वैक्सीन से संबंधित नहीं हैं।

कोविड-19 वैक्सीन की दूसरी डोज़ का 28वां दिन हुआ पूरा

डॉ. हर्ष वर्धन ने बताया कि कोविड-19 वैक्सीन की दूसरी डोज़ देने की शुरुआत 13 फरवरी, 2021 को उन लाभार्थियों के लिए शुरू की गई थी, जिन्होंने पहली डोज़ लेने के बाद 28 दिन पूरे कर लिए हैं। फ्रंटलाइन वर्करों को वैक्सीन देने का काम 2 फरवरी, 2021 को शुरू हुआ।

सभी पंजीकृत फ्रंटलाइन वर्करों को पहली मार्च, 2021 तक कम से कम एक बार निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार कोविड वैक्सीनेशन के लिए बुलाया जाएगा और 6 मार्च, 2021 तक बचे हुए सभी वर्करों को बुलाया जाएगा। सभी पंजीकृत हेल्थ वर्करों को 20 फरवरी, 2021 तक कम से कम एक बार निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार वैक्सीनेशन के लिए बुलाया जाएगा और 25 फरवरी, 2021 तक बचे हुए सभी वर्करों को बुलाया जाएगा।

यह भी पढ़ें: बाबा रामदेव ने दोबारा लॉन्च की कोरोना की दवा, जानें कितनी कारगर है ‘कोरोनिल’

Related posts

​एक साथ गरजे भारत और अमेरिकी लड़ाकू विमान

Buland Dustak

इंडो-गंगेटिक प्लेन के प्रदूषण का हिमालय के पर्यावरण पर बुरा असर

Buland Dustak

दिल्ली पुलिस का 74वां स्थापना दिवस, सीने पर हैं कई दाग

Buland Dustak

दक्षिण भारतीय ब्राह्मणों से मिली थी काशी में ‘देव दिवाली’ की प्रेरणा

Buland Dustak

यास तूफान प्रभावित क्षेत्रों को केंद्र से मिलेगी 1000 करोड़ की सहायता

Buland Dustak

योगी ने कुशीनगर हवाई अड्डे की स्वीकृति को लेकर प्रधानमंत्री का जताया आभार

Buland Dustak