22.4 C
New Delhi
February 24, 2024
मध्य प्रदेश

Panna Tiger Reserve: बाघिन पी-213 (32) ने शावकों को दिया जन्म

Panna Tiger Reserve देश के टाइगर स्टेट मध्यप्रदेश से नए साल पर बड़ी खुशखबरी आई है। यहां पार्क में बाघों के कुनबे की सदस्य संख्या में उल्लेखनीय इजाफा हुआ। Panna Tiger Reserve की युवा बाघिन पी-213 (32) ने चार शावकों को जन्म दिया है। नन्हें मेहमानों के आने से पार्क प्रबंधन में खुशी की लहर दौड़ गई है।

Panna Tiger Reserve: बाघिन पी-213 (32) ने शावकों को दिया जन्म

Panna Tiger Reserve में जन्मी और पली-बढ़ी बाघिन पी-213 (32) ने पार्क की गहरीघाट रेन्ज में दूसरी बार शावकों को जन्म दिया है। इसके शावक अब 2 से 3 माह के हो चुके हैं। कैमरा ट्रेप से प्राप्त फोटोग्राफ में युवा बाघिन अपने नवजात शावकों को मुंह में दबाकर एक स्थान से किसी दूसरे सुरक्षित स्थान पर शिफ्ट करते हुए कैद हुई है।

पन्ना टाइगर रिजर्व प्रबंधन का दावा, बाघों की संख्या बढ़कर 65 से अधिक हुई

इस क्षेत्र संचालक उत्तम कुमार शर्मा ने शावकों के जन्म पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए बताया कि बाघिन पी-213 (32) और उसके शावकों की नियमित रूप से निगरानी की जा रही है। हाल ही में मॉनिटरिंग दल के सदस्यों ने चारों शावकों तथा बाघिन को प्रत्यक्ष तौर देखा है।

बाघिन पी-213 (32)
Also Read: एयर इंडिया का कारनामा, 1 मुसाफिर को लेकर फ्लाइट दुबई को रवाना

यह महज सुखद संयोग ही है कि युवा बाघिन पी-213 (32) करीब दो साल पूर्व वर्ष 2019 की शुरुआत में जब पहली बार माँ बनी थी तब भी इसने चार शावकों को जन्म दिया था। इस बाघिन की आयु अभी पांच वर्ष से भी कम है।

अपने दूसरे लिटर में पुनः चार शावकों को जन्म देने के बाद बाघिन पी-213 (32) को लेकर यह उम्मीद की जा रही है कि यह बाघिन पन्ना में बाघों की संख्या को बढ़ाने में आगे भी इसी तरह अपना अहम योगदान देते हुए कीर्तिमान स्थापित करेगी।

बहरहाल, चार शावकों के जन्म के बाद पन्ना में बाघ परिवार की कुल सदस्य संख्या बढ़कर 65 से अधिक हो चुकी है। इनमें व्यस्क, अर्ध व्यस्क और शावक शामिल हैं। Panna Tiger Reserve के क्षेत्र संचालक उत्तम कुमार शर्मा ने बताया कि वर्तमान फेज-4 की गणना जारी है, लगभग 2-3 माह में इसके नतीजे आने पर पन्ना में बाघों की वास्तविक संख्या पता चल जाएगी।

Related posts

मध्यप्रदेश के सर्वोच्च खेल अलंकरण पुरस्कार 2020 की घोषणा

Buland Dustak

मप्र के सतपुड़ा और भेड़ाघाट हुए यूनेस्‍को की विश्व धरोहर स्थल की सूची में शामिल

Buland Dustak

राग मधुवंती में संतूर से झरे मीठे-मीठे सुर : तानसेन समारोह

Buland Dustak

महाकाल मंदिर के गर्भगृह में श्रद्धालुओं का प्रवेश शुरू, बसंत पंचमी पर उमड़ा सैलाब

Buland Dustak

कोरोना से माता-पिता को खोने वाले बच्चों की सहायता में इंदौर प्रदेश में अव्वल

Buland Dustak

मध्य प्रदेश बना देश में सर्वाधिक वैक्सीनेशन करने वाला दूसरा राज्य

Buland Dustak