43.1 C
New Delhi
May 25, 2024
देश

2025 तक देश में 25 से ज्यादा शहरों में मेट्रो ट्रेन चलाने की योजना: मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को देश की पहली चालक रहित मेट्रो ट्रेन को हरी झंडी दिखाते हुए कहा कि सरकार की योजना वर्ष 2025 तक 25 से ज्यादा शहरों में मेट्रो चलाने की है। उन्होंने कहा कि आज मेट्रो केवल सार्वजनिक परिवहन का एक माध्यम नहीं है, बल्कि प्रदूषण को कम करने का एक शानदार तरीका है।

प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से दिल्ली मेट्रो की 37 किमी लम्बी मजेंटा लाइन (जनकपुरी पश्चिम से बॉटनिकल गार्डन) पर देश की पहली चालक रहित ट्रेन को हरी झंडी दिखाई। इसके साथ ही उन्होंने 23 किमी लम्बे एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन (नई दिल्ली से द्वारका सेक्टर 21) की यात्रा के लिए नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (एनसीएमसी) सेवाओं का भी शुभारंभ किया।

देश में अलग-अलग तरह की मेट्रो लाने पर हो रहा है काम :

दिल्ली और एनसीआर में क्षेत्रीय कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए बन रहे भारत के पहले रीजनल रैपिड ट्रांज़िट सिस्टम (आरआरटीएस) का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि दिल्ली मेरठ आरआरटीएस का शानदार मॉडल दिल्ली और मेरठ की दूरी को घटाकर एक घंटे से भी कम कर देगा।

उन्होंने कहा कि उन शहरों में जहां यात्री संख्या कम है, वहां मेट्रोलाइट वर्जन पर काम हो रहा है। ये सामान्य मेट्रो की 40 प्रतिशत लागत से ही तैयार हो जाती है। जिन शहरों में सवारियां और भी कम हैं, वहां मेट्रोनियो पर काम हो रहा है। ये सामान्य मेट्रो की 25 प्रतिशत लागत से ही तैयार हो जाती है।

2025 तक देश में 25 से ज्यादा शहरों में मेट्रो ट्रेन चलाने की योजना : मोदी
स्मार्ट सिस्टम की तरफ आगे बढ़ रहा है देश :

प्रधानमंत्री मोदी ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि तीन साल पहले उन्होंने जिस मजेंटा लाइन का उद्घाटन किया था आज फिर उसी रूट पर देश की पहली ऑटोमेटिड मेट्रो का भी उद्घाटन करने का अवसर मिला है। उन्होंने कहा कि ये दिखाता है कि भारत कितनी तेजी से स्मार्ट सिस्टम की तरफ आगे बढ़ रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारा देश आज दुनिया के उन चुनिंदा देशों में शामिल हो गया है, जहां इस तरह की सुविधाएं उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि हम ऐसे ब्रेकिंग सिस्टम का भी प्रयोग कर रहे हैं जिनमें ब्रेक लगाने पर 50 प्रतिशत उर्जा वापस ग्रिड में चली जाती है। आज मेट्रो रेल में 130 मेगावाट सोलर पावर का इस्तेमाल किया जा रहा है, जिसे बढ़ाकर 600 मेगावाट तक ले जाया जाएगा।

मेट्रो ट्रेन
मेट्रो ट्रेन
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को किया याद :

मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को याद करते हुए कहा कि दिल्ली में पहली मेट्रो अटल जी के प्रयासों से चली थी। उन्होंने कहा कि 2014 में वह सत्ता में आए तो सिर्फ 5 शहरों में मेट्रो रेल थी। आज 18 शहरों में मेट्रो रेल की सेवा है और वर्ष 2025 तक हम इसे 25 से ज्यादा शहरों तक विस्तार देने वाले हैं। उन्होंने कहा कि साल 2014 में देश में सिर्फ 248 किलोमीटर मेट्रो लाइन्स आपरेशनल थीं। आज ये करीब तीन गुनी यानी 700 किलोमीटर से ज्यादा है। वर्ष 2025 तक हम इसका विस्तार 1700 किलोमीटर तक करने का प्रयास कर रहे हैं।

अहमदाबाद के बाद एनसीएमसी सेवा से जुड़ी दिल्ली मेट्रो :

नेशनल कॉमन मॉबिलिटी कार्ड से मेट्रो भी जुड़ रही है। पिछले साल अहमदाबाद से इसकी शुरुआत हुई थी। आज इसका विस्तार दिल्ली मेट्रो की एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर हो रहा है। मोदी ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर कॉमन मोबिलिटी कार्ड इसी दिशा में एक बड़ा कदम है। आप जहां कहीं से भी यात्रा करें, आप जिस भी सार्वजनिक वाहन से यात्रा करें, ये एक कार्ड आपको एकीकृत सुविधा देगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि मेट्रो सर्विसेस के विस्तार के लिए, मेक इन इंडिया महत्वपूर्ण है। मेक इन इंडिया से लागत कम होती है विदेशी मुद्रा बचती है और देश में ही लोगों को ज्यादा से ज्यादा रोजगार मिलता है। उन्होंने काह कि रोलिंग स्टॉक के मानकीकरण से हर कोच की लागत अब 12 करोड़ से घटकर 8 करोड़ पहुंच गयी है। आज चार बड़ी कंपनियां देश में ही मेट्रो कोच का निर्माण कर रही हैं।

यह भी पढ़ें: “मेक इन इंडिया, मेक फॉर द वर्ल्ड”, है रक्षा मंत्री का नया मंत्र

Related posts

कोरोना वैक्‍सीन आपूर्ति के लिए टाटा ने पेश की रेफ्रिजरेटड ट्रक की रेंज

Buland Dustak

देश को केवड़िया से जोड़ने वाली 8 ट्रेनों को PM ने दिखाई हरी झंडी

Buland Dustak

70 एकड़ भूमि का ध्यान रख पास कराया जाएगा श्रीराम जन्मभूमि का नक्शा

Buland Dustak

मां दुर्गा की नव शक्तियों का दूसरा स्वरुप – माता ब्रह्मचारिणी

Buland Dustak

​​सैनिकों को ठंड से बचाएगी ‘हिम तापक’ डिवाइस

Buland Dustak

46 ऑनलाइन फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम कार्यक्रमों का उद्घाटन

Buland Dustak