34 C
New Delhi
April 20, 2024
देश

भारत में दो कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सीन को DCGI ने दी मंजूरी

नई दिल्ली: भारत कई दिनों के इंतजार के बाद भारत में भी दो कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दे दी गई है। रविवार को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने ऑक्सफोर्ड व सीरम इंस्टिट्यूट की वैक्सीन कोविशील्ड और भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन को आपात इस्तेमाल की अनुमति दे दी है। 

केंद्रीय औषध मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) ने कोविड-19 पर एक विशेषज्ञ समिति का गठन किया था जिसमें वैक्सीन से संबंधित सभी विशेषज्ञों की टीम बनाई गई थी। इस कमेटी ने पिछले दो दिन यानि 1 और 2 जनवरी की बैठक में ऑक्सफोर्ड की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के सभी डेटा का अध्ययन किया। सभी पहलुओं पर विचार करने के बाद कमेटी ने इन दोनों वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की सिफारिश की थी। 

कोरोना वैक्सीन DCGI

ऑक्सफोर्ड की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन पर लगाई मुहर 

इन दोनों वैक्सीन को DCGI से अंतिम अनुमति मिलनी बाकी थी।भारत ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया जब किसी दवा, ड्रग, वैक्सीन को अंतिम अनुमति देता है, तभी इन दवाओं, वैक्सीन का सार्वजनिक इस्तेमाल हो सकता है। ऐसी इजाजत देने से पहले DCGI वैक्सीन पर किए गए परीक्षण के आंकड़ों का कड़ाई से अध्ययन करता है और संतुष्ट होने के बाद ही वैक्सीन के सार्वजनिक इस्तेमाल की इजाजत देता है।

DCGI के निदेशक डॉ. वीजी सोमानी ने आज प्रेस वार्ता में बताया कि सभी वैक्सीन के साइड इफेक्ट्स होते हैं, इसलिए उससे घबराने की आवश्यकता नहीं है। कोरोना वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित वैक्सीन है। 

यह भी पढ़ें: बजट कोविड-19 से तबाह अर्थव्यवस्था में आजीविका पर केंद्रित: CII

डॉ. सोमानी ने कहा कि दोनों ही वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित हैं और इसका इस्तेमाल इमरजेंसी की स्थिति में किया जा सकेगा। DCGI के मुताबिक दोनों ही वैक्सीन की दो डोज इंजेक्शन के रूप में दी जाएगी। DCGI के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट के वैक्सीन की ओवरऑल क्षमता 70.42% थी। सीरम के आंकड़े दूसरे देशों में किए गए अध्ययन से मेल खाते हैं।

डॉ. सोमानी ने कहा कि सीरम द्वारा इस वैक्सीन पर देश में क्लिनिकल ट्रायल जारी रहेगा। इस तरह डीसीजीआई ने सीरम इंस्टीट्यूट की वैक्सीन कोविशील्ड और भारत बायोटेक की वैक्सीन कोवैक्सीन पर मुहर लगाते हुए इनके आपातकाल इस्तेमाल की अंतिम मंजूरी दे दी है। अब यह वैक्सीन देश में आम लोगों को लगाई जा सकेंगी।

Related posts

उज्जैन नगर भ्रमण पर निकले भगवान महाकाल, भक्तों को दो रूपों में दिये दर्शन

Buland Dustak

बाबा रामदेव ने दोबारा लॉन्च की कोरोना की दवा, जानें कितनी कारगर है ‘कोरोनिल’

Buland Dustak

बाइकर्स दल ने आजाद तिरंगा यात्रा के जरिये पूरा किया 1300 किमी का सफर

Buland Dustak

Bharat band : संयुक्त किसान मोर्चा के चलते दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर जाम

Buland Dustak

अब आसानी से जा सकेंगे बदरीनाथ धाम, यात्री नहीं होंगे परेशान

Buland Dustak

आत्मनिर्भर भारत अभियान में उत्तर प्रदेश निकला सबसे आगे: प्रधानमंत्री

Buland Dustak