27.1 C
New Delhi
April 20, 2024
राज्य

केरल में 70, तमिलनाडु में 63 और पुडुचेरी में लगभग 78% हुए चुनाव मतदान

-असम और पश्चिम बंगाल में क्रमशः 79 और 78 प्रतिशत मतदान

नई दिल्ली: विधानसभा चुनाव वाले पांच राज्य केरल, तमिलनाडु, पुडुचेरी, असम और पश्चिम बंगाल की कुल 475 विधानसभा सीटों के लिए 1,53,538 मतदान केंद्रों पर मंगलवार को मतदान कार्यक्रम शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया। चुनाव आयोग के अनुसार शाम 5:00 बजे तक केरल में 69.95 प्रतिशत, तमिलनाडु में 63.47 प्रतिशत, पुडुचेरी में 77.90 प्रतिशत मतदान हुआ। वहीं तीसरे चरण के लिए असम में 78.94 प्रतिशत और पश्चिम बंगाल में 77.68 प्रतिशत मतदान हुआ।

केरल मतदान

केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी की सभी सीटों पर आज मतदान हुआ। केरल की 140, तमिलनाडु की 234 और पुडुचेरी की 30 सीटों पर मतदान के लिए क्रमशः 40,771, 88,937 और 1,558 मतदान केंद्र बनाए गए थे। वहीं असम की 40 और पश्चिम बंगाल की 31 सीटों के लिए क्रमशः 11,401 और 10,871 मतदान केंद्र बनाए गए थे।

चुनाव कार्यक्रम के दौरान 947.98 करोड़ रुपए की जब्ती: चुनाव आयोग

आज हुए मतदान में कुल 5821 उम्मीदवारों का भाग्य ईवीएम में बंद हो गया। इसमें केरल से 957 तमिलनाडु से 3,998 पुडुचेरी से 324 असम से 337 पश्चिम बंगाल से 205 उम्मीदवार हैं। इस दौरान 9,06,763 दिव्यांग मतदाताओं और 21,52,210 80 वर्ष से ऊपर की आयु के मतदाताओं ने मतपत्रों के माध्यम से मतदान किया।

आयोग के अनुसार अब तक के चुनाव कार्यक्रम के दौरान 947.98 करोड़ रुपए की जब्ती की जा चुकी है। इसमें मुफ्त का सामान, नकद, मादक पदार्थ, कीमती धातुयें और शराब शामिल है। यह पिछली बार के मुकाबले 4 गुना अधिक है। सबसे ज्यादा 445.81 करोड़ की जब्ती तमिलनाडु से की गई है।

आयोग के अनुसार करोना को देखते हुए सभी जगह इससे संबंधित नियमों का पालन करते हुए मतदान कराया गया। साथ ही 50 प्रतिशत से अधिक मतदान केन्द्रों की सीधे वेबकास्टिंग की गई।

यह भी पढ़ें: असम चुनाव : दूसरे चरण का मतदान 01 को, चुनावी शोर थमा

Related posts

झारखंड में कोयला उत्पादन की कमी से गहरा सकता है बिजली संकट

Buland Dustak

ग्रामीण अर्थव्यवस्था का रथ खींच रहीं डेढ़ लाख उद्यमी महिलाएं

Buland Dustak

तीरथ सिंह रावत के उत्तराखंड के मुख्यमंत्री बनने पर प्रधानमंत्री ने दी बधाई

Buland Dustak

बंगाल प्लानिंग कमीशन: जय हिंद वाहिनी बनाएंगी मुख्यमंत्री ममता बनर्जी

Buland Dustak

40 वर्षों तक फायदा पहुंचाने वाली व्यवस्था कायम करने का इरादा : हेमंत सोरेन

Buland Dustak

रेलवे पहली मार्च से पांच जोड़ी विशेष रेलगाड़ी शुरू करेगा

Buland Dustak