20.1 C
New Delhi
March 5, 2024
देश

ठाकुर बांके बिहारी जी महाराज सात महीने के बाद शनिवार को देंगे दर्शन

-ठाकुर बांके बिहारीजी महाराज सात महीने के बाद शनिवार श्रद्धालुओं को देंगे दर्शन
-एक दिन में दो पारियों में 400 श्रद्धालु ही कर सकेंगे ठाकुरजी के दर्शन, ऑनलाइन कराना होगा रजिस्ट्रेशन

मथुरा: जन-जन के आराध्य ठाकुर बांके बिहारी के दर्शन सात महीने के लम्बे अंतराल के बाद शनिवार को अपने भक्तों को नयनाभिराम दर्शन देकर उनकी मुराद पूरी करेंगे। लेकिन कोविड-19 की गाइड लाइन के अनुपालन के रूप में मात्र 400 श्रद्धालु ही एक दिन में दर्शन कर सकेंगे। यह बात शुक्रवार देरसायं मंदिर के प्रबंधक मुनीश शर्मा ने कही है। 

गौरतलब हो कि पिछले सात महीनों से कोविड-19 को लेकर विश्व प्रसिद्ध बांकेबिहारी मंदिर के कपाट भक्तों के लिए बंद थे, फर्श निर्माण पूरा होने के बाद मंदिर रिसीवर मथुरा मुंसिफ ने नवरात्र के प्रथम दिवस 17 अक्टूबर से खोले जाने के निर्देश जारी कर दिये थे, लगभग पिछले 36 घण्टे से मन्दिर प्रबंधन, जिला प्रशासन व रिसीवर मथुरा मुंसिफ के बीच कई बिन्दुओ पर सहमति न बन पाने से असमंजस की स्थिति पैदा हो रही थी।

ठाकुर बांकेबिहारीजी महाराज सात महीने के बाद शनिवार देंगे दर्शन

शुक्रवार को भी सुबह से ही असंमजस की स्थिति बनी हुई थी। आखिरकार शुक्रवार की सायं लम्बे मंथन के बाद मन्दिर के पट पूर्व निर्धारित तिथि पर खोलने को लेकर सहमति बन ही गयी। मंदिर गृह मंत्रालय द्वारा जारी गाइडलाइंस के अनुरूप खुलेगा। मन्दिर दर्शनार्थ आने वाले भक्तो को ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। केवल एकबार में 5 ही भक्तो को प्रवेश मिल सकेगा। 

ठाकुर बांके बिहारी के दर्शन फिलहाल एक दिन में केवल 400 श्रद्धालु ही कर सकेंगे

शुक्रवार देरसायं प्रबंधक मुनीश शर्मा ने बताया शनिवार को आम जनता को आसानी से दर्शन कराने की मन्दिर प्रबंधन सभी तैयारियां पूरी कर ली है। अब प्रतिदिन सुबह 8 बजे से दोपहर 12 तक और सांय 5 : 30 बजे से रात्रि 9ः 30 बजे तक दर्शन होंगे। फिलहाल एक दिन में केवल 400 श्रद्धालु ही प्रभु के दर्शन कर सकेंगे।

सुबह की पारी में लगभग 4 घटे तक दर्शन खुलने के दौरान करीब 200 भक्त ही दर्शन कर सकेंगे और इतने ही भक्तो को सायंकालीन पारी में प्रवेश मिल सकेगा। इस दौरान प्रत्येक एक घण्टे में मन्दिर परिसर को सेनेटाइज किया जायेगा। श्री शर्मा ने बताया कि मन्दिर परिसर में केवल सेवायत गोस्वामी को ही प्रवेश मिल सकेगा। श्रद्धालुओं का प्रवेश 3 नम्बर गेट से व निकासी 4 नम्बर गेट से होगी।

यह भी पढ़ें: बांकेबिहारी के दर्शनों को उमड़ा सैलाब, कोरोना गाइड लाइन की उड़ीं धज्जियां

Related posts

नवीन स्वदेशी प्रौद्योगिकियों से ‘आत्म निर्भर’ बनेगा भारत: डॉ. हर्ष वर्धन

Buland Dustak

आईएनएस विराट का ‘जीवन’ बचाने के लिए नहीं मिली ​एनओसी

Buland Dustak

लग्जरी ट्रेन पैलेस ऑन व्हील्स ‘स्पेशल’, 24 फरवरी से पटरी पर दौड़ेगी

Buland Dustak

कोविशील्ड डोज के बीच 12 से 16 सप्ताह के अंतराल से और मजबूत बनेगी एंटीबॉडी

Buland Dustak

गलवान घाटी जैसी झड़प नहीं दोहराने पर चीन सहमत

Buland Dustak

कोविड 19: फरवरी से सिनेमाघरों में 50% से ज्यादा दर्शकों की अनुमति

Buland Dustak