41.1 C
New Delhi
May 25, 2024
विदेश

नए टेक वीजा सिस्टम का ब्रिटेन कर सकता है ऐलान, भारतीयों को होगा फायदा

लंदन, 22 फरवरी

ब्रिटेन में फाइनेंशियल टेक्नोलॉजी इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए वहां के वित्तमंत्री ऋषि सुनक आगामी बजट प्रस्ताव में टेक वीजा सिस्टम का ऐलान कर सकते हैं। इस फास्ट ट्रैक वीजा से संबंधित प्रस्ताव के लिए वह इन दिनों तैयारी में जुटे हुए हैं। 

सुनक दुनिया भर से प्रतिभाशाली लोगों को आकर्षित करने के लिए ऐसा कर सकते हैं। इससे ब्रिटेन में स्टार्टअप स्थापित करने और सात अरब पाउंड (71 हजार करोड़ रुपये) के फिनटेक सेक्टर को गति मिलेगी। स्टार्टअप की स्थापना से अर्थव्यवस्था का विस्तार होगा और नए रोजगार भी पैदा होंगे।

ब्रिटेन वीजा

डेली टेलीग्राफ के अनुसार इस सिस्टम का ज्यादा विवरण का अभी पता नहीं चला है लेकिन जानकारों का मानना है कि यह 2020 में ग्लोबल टैलेंट वीजा से मिलता-जुलता होगा। यह वीजा सिस्टम प्रतिभाशाली वैज्ञानिकों को आकर्षित करने के लिए बना था। 

ब्रिटेन ने ग्लोबल टैलेंट वीजा यूरोपीय यूनियन से अलगाव के बाद नई आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए किया है। इसके जरिये वह दुनिया की सर्वोत्कृष्ट प्रतिभाओं को ब्रिटेन की ओर आकर्षित कर उनकी क्षमताओं का इस्तेमाल करना चाहता है। ग्लोबल टैलेंट वीजा से भारतीय पेशेवरों को बड़ा लाभ हुआ है और तकनीक से संबंधित ब्रिटेन जो भी नई पहल करेगा उससे भी भारत को बड़ा फायदा होगा। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के एजेंटों के देश के प्रमुख स्थानों पर कार्य करने की जानकारी प्रकाश में आने के बाद ब्रिटेन भी चाहता है कि भारतीय पेशेवर ही ज्यादा संख्या में उसके प्रतिष्ठानों में कार्य करें। 

सुनक ने कहा है कि वह चाहते हैं कि ब्रिटेन फिनटेक का ग्लोबल हब बने। ऐसा वह यूरोपीय देशों के साथ ही बाकी दुनिया के देशों की प्रतिभाओं को आकर्षित करने के लिए कह रहे हैं। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन पूर्व में ही इस आशय की अपनी मंशा जाहिर कर चुके हैं।

यह भी पढ़ें: अमेरिकी नागरिकता विधेयक-2021 संसद में पेश, भारतीय IT पेशेवरों को होगा फायदा

Related posts

सऊदी अरब ने की हज-2021 की घोषणा, 60 हजार लोगों की अनुमति

Buland Dustak

इजरायल-फिलिस्तीन के कई शहरों में भड़का दंगा, हर तरफ तबाही का मंजर

Buland Dustak

चाबहार बंदरगाह का मई में शुरू हो सकता है संचालन

Buland Dustak

चीन में बाढ़ कहर, कमजोर तूफान को बना दिया ‘आसमानी आफत’

Buland Dustak

डोनाल्ड ट्रंप की जीत की सभी आशाएं धूमिल, बाइडन जीत के बहुत क़रीब

Buland Dustak

इजराइल में क्यों देनी पड़ रही कोरोना वैक्सीन की तीसरी डोज

Buland Dustak