22.4 C
New Delhi
February 24, 2024
मनोरंजन

Dil Bechara Review: आखिरी फिल्म में भी जीना सीखा गया हीरो

  • फिल्म    :  Dil Bechara
  • स्टारकास्ट :  सुशांत सिंह राजपूत, संजना सांघी, सैफ अली खान
  • डायरेक्टर  : मुकेश छाबड़ा
  •  स्टार        : 3.5
Dil Bechara Review

” जन्म कब लेना है और मरना कब है, हम डिसाइड नहीं कर सकते ,

पर कैसे जीना है ,वो हम डिसाइड कर सकते है “

Dil Bechara (2020)

कहने को तो बस ये एक डायलॉग है लेकिन अगर इसका मतलब हर कोई समझ जाए तो जिंदगी आसान हो जाए। सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म Dil Bechara इसी खास मैसेज के साथ डिज्नी प्लस हॉटस्टार पर स्ट्रीम हुई।

कहानी

कहानी है जमेश्दपुर के दो ऐसे परिंदों की जिन्हें चाहत बस जीने की है- कैज़ी बासु (संजना सांघी) और मैनियुल राजकुमार जूनियर उर्फ मैनी (सुशांत सिंह राजपूत)। कैज़ी थाइरॉड कैंसर की मरीज है और उसका ऑक्सीजन सिलेंडर ही उसकी लाइफलाइन है, जिसका भार हर पल उसे ये याद दिलाता है कि वो नॉर्मल नहीं है।

वहीं दूसरी तरफ मैनी है। मैनी भी एक जानलेवा बिमारी से पीड़ित है, जिसके चलते उसे अपना एक पैर भी खोना पड़ जाता है। वो चाहता तो दूसरों की तरह जिंदगी को जी भर कर कोस सकता है, पर मैनी जानता है कि अगर वो जिंदगी को कोसेगा तो जिएगा कब। 

कैज़ी, मैनी के अलावा फिल्म में जगदीश पांडे (शाहिल वैद) और अभिमन्यु राठौर (सैफ अली खान) भी हैं, जो इस कहानी को पूरा करते हैं। जगदीश पांडे मैनी का जिगरी दोस्त है, जिसे आंख का कैंसर है और उसको पता है कि आगे जाकर वो अंधा हो जाएगा। वहीं अभिमन्यु राठौर कैजी का फेवरिट सिंगर है जिसका अधूरा गाना कैज़ी की जिंदगी के खालीपन को भरता है। 

कहानी को प्रिडिक्ट करना आसान है क्योंकि ये हॉलीवुड फिल्म द फॉल्ट इन आर स्टार की हिंदी रीमेक है, लेकिन फिल्म के फ्रेश डायलॉग और एक्टर्स की शानदार परफोर्मंस इसे अलग बनाती है। कहने को तो ये एक लव स्टोरी है, पर ये उन टिपिकल बॉलीवुड लव स्टोरीज जैसी नहीं है, जिनमें आशिक एक दूसरे की याद में या तो खुद को तबाह कर लेता है या आबाद कर लेता है, ये तो बस एक सिंपल सी स्टोरी है जो एक ही जिंदगी को दो अलग नजरियों से दिखाती है। कैज़ी की शिकायतों को जब मैनी की जिंदादिली का साथ मिलता है तो वो जिंदगी को एक अलग नजरिए से देखने लगती है। 

दिल बेचारा’ का ट्रेलर

डायरेक्शन और एक्टिंग

एक सुनी सुनाई कहानी को भी जिस तरह दोबारा थाली में परोसा गया है उसके लिए डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा की तारीफ होनी चाहिए। उन्होंने कहानी की आत्मा के साथ कोई छेड़छाड़ न करके भी इसे भारतीय दर्शकों से जोड़ दिया। सुशांत सिंह राजपूत की ये आखिरी फिल्म है इसलिए उनकी एक्टिंग को यहां मापना गलत होगा, लेकिन इतना जरुर है कि ये उनकी एक्टिंग का वो स्तर है, जहां एक फिक्शन कैरेक्टर भी जिंदा लगने लगता है। संजना ने भी अपने रोल में अच्छा काम किया है, वहीं सैफ का कैमियो भी अच्छा है।

रिव्यू

कहानी में जानने को ज्यादा कुछ नहीं है, लेकिन फिर भी फिल्म का हर डायलॉग दिल को छू जाता है। अगर यूं कहे कि ये फिल्म नहीं एक जज्बात है, जिसे समझ लिया तो जिंदगी से शिकायतें खत्म हो जाएंगी तो गलत नहीं होगा।

Dil-bechara
IMDB रेटिंग ने उड़ाए होश, साबित हुई अब तक की बेस्ट फिल्म

Dil Bechara ने रिलीज के साथ ही IMDB पर नया रिकॉर्ड बना दिया है। रिलीज के बाद फिल्म की रेटिंग IMDB पर काफी समय तक 10/10 दिखाई दे रही थी, जिसे देख फैंस का उत्साह भी बढ़ गया। हालांकि इस फिल्म की रेटिंग 9.8 है। फैंस अभी भी लगातार इस फिल्म को वोट कर रहे हैं, जिस वजह से फिल्म की रेटिंग हाई बनी हुई है। दिल बेचारा की रेटिंग अब तक की टॉप रेटिंग है।

कुछ खबरों की मानें तो सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म Dil Bechara को एक ही समय पर लाखों लोगों के देखने की वजह से हॉटस्टार क्रैश भी हो गया था, यही नहीं Imdb सर्वर के क्रैश होने की खबरें भी आई थी। किसी फिल्म को लेकर फैंस के बीच इतना एक्साइटमेंट पहली बार देखने को मिल रहा है। फैंस सोशल मीडिया पर दिल बेचारा को सुपरहिट बता रहे हैं, साथ ही फिल्म के डॉयलाग शेयर कर सुशांत को ट्रिब्यूट भी दे रहे हैं।

यह भी पढ़ें: जया बच्चन बर्थडे: महज़ 15 साल की उम्र में की थी करियर की शुरुआत

Related posts

बॉलीवुड ड्रग्स मामले में हो सकती है NIA की एन्ट्री

Buland Dustak

अक्षय और वाणी की ‘Bell Bottom’ की रिलीज डेट तय

Buland Dustak

संजीव कुमार पुण्यतिथि: सशक्त अभिनय के दम पर बनाई थी खास पहचान

Buland Dustak

बर्थडे स्पेशल: अभिनेता विनोद खन्ना का सुपरस्टार से राजनेता बनने तक का सफर

Buland Dustak

श्रीदेवी की पुण्यतिथि पर जानते हैं उनके फिल्मी सफर पर एक नजर

Buland Dustak

सुशांत के पिता का रिया चक्रवर्ती पर सुशांत के खाते से 17 करोड़ निकालने का आरोप

Buland Dustak