बिजनेस

म्युचुअल फंड में निवेश करना महंगा हुआ

-म्युचुअल फंड में निवेश करना महंगा हुआ
-आज से म्युचुअल फंड में निवेश पर स्टैंप ड्यूटी लगेगी

म्युचुअल फंड: सरकार हमेशा यही कहती रही है कि छोटे निवेशकों को स्टाक्स मार्केट (Stock Market) में सीधे निवेश न करके म्युचुअल फंड के जरिए निवेश करना चाहिए क्योंकि फंड हाउस के पास प्रफेशनल फंड मैनेजर होते हैं जो अच्छी खासी स्टडी करने के बाद ही शेयरों में निवेश करते हैं। सरकार को इस कदम से 1000 करोड़ रुपये मिलने की उम्मीद है। लेकिन 1 जुलाई अर्थात आज से सरकार ने Mutual Fund में निवेश करने पर स्टैंप ड्यूटी लगादी है। यह ड्यूटी शेयरों, डेट प्रपत्र, कमोडिटीज, और म्युचुअल फंड़ों की सभी केटेगरी पर लगादी गई है।

म्युचुअल फंड खरीदने पर 0.005 प्रतिशत और इसकी यूनिटों का ट्रांसफर करने पर 0.015 प्रतिशत स्टैंप ड्यूटी देनी होगी। यह ड्यूटी सभी यूनिटों की फिरेश खरीद पर देनी होगी जिसमें पहले से ही ली हुई फिरेश एसआईपी के तहत मंथली परचेज भी  शामिल होगी।

म्युचुअल फंड हुआ महंगा
कितना होगा असर

हालांकि लान्ग टर्म इन्वेस्टमेंट पर यह असर बहुत कम है क्योंकि यह एक बार ही लगेगा। जैसे कोई इन्वेस्टर 1 लाख रुपया निवेश करता है और इन यूनिटों को एक साल रखता है तो उसे 5 रुपये की ड्यूटी चुकानी होगी। साथ ही रिडम्पशन पर कोई ड्यूटी नहीं देनी है।

लेकिन जो इन्वेस्टर शार्ट टर्म के लिए इन्वेस्ट करते हैं उस पर इसका ज्यादा असर पड़ेगा। साथ ही जो निवेशक गलत फंड या स्कीम चुन लेते हैं और एक स्कीम से दूसरी स्कीम बदलते या स्वचिंग करते रहते हैं उन्हें ज्यादा ड्यूटी देनी पड़ सकती है। 

Read More: भारत मॉरीशस के बीच व्यापक आर्थिक सहयोग व साझेदारी को कैबिनेट की मंजूरी

Related posts

आम बजट 2022-23 : पीएम गतिशक्ति से 60 लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

Buland Dustak

इंडियन ऑयल- एसबीआई को-ब्रांडेड रुपे डेबिट कार्ड जारी

Buland Dustak

Gautam Adani बने एशिया के दूसरे सबसे धनी कारोबारी

Buland Dustak

ECLGS Scheme के तहत कर्ज लेने की समय-सीमा 31 मार्च, 2022 तक बढ़ी

Buland Dustak

करदाताओं को सरकार जल्द देगी Charter of Rights का तोहफा

Buland Dustak