36.8 C
New Delhi
May 26, 2024
देश

ई मतदाता पहचान पत्र और डिजिटल रेडियो सेवा का होगा शुभारंभ

मतदाता पहचान पत्र: चुनाव आयोग 25 जनवरी  को 11वां राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाएगा। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद नई दिल्ली में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय समारोह में मुख्य अतिथि होंगे।

इस वर्ष के मतदाता दिवस का विषय ‘मेकिंग अवर वोटर्स एम्पावर्ड, विजिलेंट, सेफ एंड इंफॉर्मेटेड’ है। भारतीय चुनाव आयोग के स्थापना दिवस को चिह्नित करने के लिए 2011 से हर साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है। इस दिन का उपयोग मतदाताओं में जागरूकता फैलाने और चुनावी प्रक्रिया में जागरूक भागीदारी को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है।

इस दौरान राष्ट्रपति वर्ष 2020-21 के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान करेंगे और चुनाव आयोग के वेब रेडियो ‘हैलो वोटर्स’ को लॉन्च करेंगे। विभिन्न क्षेत्रों में चुनाव के संचालन में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए राज्य और जिला स्तर के अधिकारियों को सर्वश्रेष्ठ चुनावी प्रथाओं के लिए इन राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया जाता है। 

ई मतदाता पहचान पत्र
ई मतदाता पहचान पत्र

वहीं,  हैलो वोटर्स एक ऑनलाइन डिजिटल रेडियो सेवा है जिसमें मतदाता जागरूकता कार्यक्रम संचालित किए जाएंगे।  यह चुनाव आयोग की वेबसाइट पर एक लिंक के माध्यम से सुलभ होगा। यह हिंदी, अंग्रेजी और अन्य भारतीय भाषा में यह गीत, नाटक, चर्चा, स्पॉट, चुनाव की कहानियों के माध्यम से चुनावी प्रक्रियाओं की जानकारी और शिक्षा प्रदान करेगा।

इस दौरान केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ई-ईपीआईसी कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे और पांच नए मतदाताओं को ई-ईपीआईसी और निर्वाचक फोटो पहचान पत्र वितरित करेंगे। मतदाता फोटो पहचान पत्र के इस डिजिटल संस्करण को वोटर हेल्पलाइन ऐप और वेबसाइटों के माध्यम से एक्सेस किया जा सकता है। आयोजन के दौरान प्रसाद चुनाव आयोग के तीन प्रकाशन भी जारी करेंगे।

यह भी पढ़ें: घरेलू विमान न्यूनतम और उच्चतम किराए में 30% तक बढ़ोतरी

Related posts

योग दिवस 2021: नेगेटिविटी से क्रिएटिविटी का रास्ता दिखाता है योग

Buland Dustak

विक्रमोत्सव 25 मार्च से 2 अप्रैल तक, पहली बार राष्ट्रीय स्तर पर होंगे कार्यक्रम

Buland Dustak

प्रवासी भारतीयों और विदेशियों के लिए बच्चा गोद लेने की प्रक्रिया होगी आसान

Buland Dustak

कोरोना वैक्‍सीन आपूर्ति के लिए टाटा ने पेश की रेफ्रिजरेटड ट्रक की रेंज

Buland Dustak

ब्लैक फंगस संक्रामक बीमारी नहीं, कोरोना मरीजों में दिख रहे हैं लक्षण

Buland Dustak

काशी विश्वनाथ की मंगला आरती देखना हुआ महंगा, चुकाना होगा अधिक शुल्क

Buland Dustak